• 30/08/2022

बाबा महाकाल मंदिर में एक बार फिर श्रद्धालु से ठगी, पुजारी महासंघ ने दी आंदोलन की चेतावनी

बाबा महाकाल मंदिर में एक बार फिर श्रद्धालु से ठगी, पुजारी महासंघ ने दी आंदोलन की चेतावनी

उज्जैन। मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में बाबा महाकाल मंदिर में दर्शन कराने के नाम पर एक बार फिर श्रद्धालु के साथ ठगी का मामला सामने आया है. जहां जयपुर के कलेक्टर कार्यालय के कर्मचारी से दर्शन के नाम पर रूपए लिए गए, लेकिन दर्शन व जलाभिषेक नहीं कराया.  जिसकी शिकायत श्रद्धालुओं ने मंदिर प्रशासन की है.

दरअसल, राजस्थान के जयपुर कलेक्ट्रेट कार्यालय पदस्थ कर्मचारी बाबा महाकाल का दर्शन करने उज्जैन पहुंचा. यहां कर्मचारी से भस्म आरती और जलाभिषेक के नाम पर ठगी हुई है. जिसकी लिखित शिकायत मंदिर प्रशासन से की गई. इस पूरे मामले में मंदिर प्रशासन ने महाकाल थाना पुलिस को कार्रवाई के लिए शिकायत की कॉपी पहुंचाई है.

वहीं महाकाल मंदिर के पुजारी महासंघ ने भी इसका विरोध करते हुए कार्रवाई के लिए पुलिस व मंदिर प्रशासन को कार्रवाई के लिए पत्र सौंपा है. गौरतलब है कि आए दिन बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के साथ इस तरीके की ठगी होती है. जिसके बाद श्रद्धालु को दर्शन नहीं मिलने के बाद शिकायत करनी पड़ती है. महाकाल मंदिर के चारों तरफ कई दलाल सक्रिय हैं, जो बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को अपने जाल में फंसाकर ठगी करते हैं.

इसके पहले भी हो चुकी है ठगी

बता दें कि पिछले दिनों जयपुर कलेक्टर कार्यालय में पदस्थ अनमोल शर्मा से उज्जैन आए थे. यहां उज्जैन के नृसिंह घाट मार्ग स्थित हरियाणा सेवा आश्रम के कृष्णा गिरि महाराज ने भस्मारती के दर्शन व जलाभिषेक कराने के नाम पर ठगी की थी. जिसकी शिकायत उन्होंने कलेक्टर आशीष सिंह व मंदिर प्रशासन गणेश कुमार धाकड़ से की.

फरियादी ने शिकायत में कहा कि कृष्णा गिरि महाराज ने 7 अगस्त को उन्हें फोन करके भगवान महाकाल की भस्म आरती दर्शन कराने तथा भगवान का जलाभिषेक कराने के लिए उज्जैन बुलाया था. उन्होंने 2 हजार रुपए रूम रेंट, भस्मा आरती दर्शन के लिए प्रति व्यक्ति 1300 रुपए जबकि भगवान महाकाल का जलाभिषेक करने के लिए प्रति व्यक्ति 1500 रुपए लिए.

पीड़ित ने बताया कि जब 8 अगस्त को वे उज्जैन पहुंचे तो उन्होंने दर्शन पूजन कराने में टालमटोल की. उनसे दिए गए पैसे के संबंध में पूछा तो महाराज ने कहा कि यह राशि तो मंदिर कार्यालय में जमा करा दी है.उन्होंने बताया कि उन्हें बाद में पता चला कि महाकाल मंदिर में भगवान का जलाभिषेक करने के लिए 1500 रुपए में 2 व्यक्तियों को गर्भगृह में प्रवेश दिया जाता है. जबकि कृष्णागिरि ने प्रत्येक व्यक्ति के 1500 रुपए लिया है.

पुजारियों ने अखाड़ा परिषद से की शिकायत

बता दें कि अखिल भारतीय पुजारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित महेश पुजारी ने शासन व प्रशासन से जयपुर के श्रद्धालुओं के साथ हुई ठगी के मामले में कार्रवाई करने की मांग की है. महेश पुजारी ने कहा कि सनातन धर्म परंपरा में साधु, संतों के प्रति भक्तों का बहुत विश्वास है, लेकिन इस प्रकार के तथा कथित साधु, संत सनातन धर्म व भक्तों की भावना के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं. इन संतों के आश्रमों में भक्तों के साथ होने वाली धोखाधड़ी से अखाड़े भी बदनाम हो रहे हैं. वहीं इस मामले में कार्रवाई न होने पर पुजारी महासंघ ने आंदोलन करने की चेतावनी दी है.


Related post

अद्भुत-अलौकिक-अप्रतिम और दिव्य है महाकाल लोक, तस्वीरों में देखिए राजाधिराज बाबा महाकाल का भव्य दरबार

अद्भुत-अलौकिक-अप्रतिम और दिव्य है महाकाल लोक, तस्वीरों में देखिए…

राजाधिराज महाकाल की नगरी उज्‍जयिनी बसी भले ही मृत्युलोक में है, लेकिन इसका मन इन दिनों मानो आकाश हुआ जा रहा…
आस्था या अंधविश्वास: भूतड़ी अमावस्या पर यहां लगता है ‘भूतों का मेला’, जानिए क्या है पूरी हकीकत…

आस्था या अंधविश्वास: भूतड़ी अमावस्या पर यहां लगता है…

बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में भूतड़ी अमावस्या पर 52 कुंड पर भूतो का मेला लगा हुआ है. यहां की मान्यता…
बाबा महाकाल को श्रद्धालुओं ने दिल खोलकर दिया दान, 1 साल में आया 81 करोड़ से अधिक का रिकॉर्ड दान

बाबा महाकाल को श्रद्धालुओं ने दिल खोलकर दिया दान,…

उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर में श्रद्धालुओंं ने दिल खोलकर दान किया. 1 सितंबर 2021 से लेकर 1 सितंबर 2022 तक एक साल…