• 19/07/2022

BREAKING : नूपुर की गिरफ्तारी होगी या नहीं! सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर दिया ये फैसला

BREAKING : नूपुर की गिरफ्तारी होगी या नहीं! सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर दिया ये फैसला

द तथ्य डेस्क।  भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा को आज सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने नूपुर की याचिका पर आज सुनवाई करते हुए उनके खिलाफ अलग-अलग राज्यों में दर्ज एफआईआर पर 10 अगस्त तक गिरफ्तारी से रोक लगा दी है। वहीं कोर्ट नूपुर की याचिका पर अब 10 अगस्त को सुनवाई करेगी।

इसे भी पढ़ें: संकटमोचन बना भारत, ऐसे कर रहा श्रीलंका की मदद

सुप्रीम कोर्ट ने आज नूपुर शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए दलीलें सुनी। नूपुर के वकील ने कोर्ट को ऐसे कई कारण बताए जिससे नूपुर की जान को खतरा है। कोर्ट ने शर्मा की ओर से दायर की गई याचिका और दलीलों को सुनने के बाद अब 10 अगस्त तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दिया है साथ ही इस याचिका पर सुनवाई की अगली तिथि भी 10 अगस्त निर्धारित कर दी है। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने अपने खिलाफ देश के आठ राज्यों में दर्ज एफआईआर को एक जगह ट्रांसफर करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। उन्होंने याचिका में कहा है कि उनके विरूद्ध जिन आठ राज्यों में मामला दर्ज किया गया है उन्हें एक जगह ट्रांसफर किया जाए तथा उन्हें गिरफ्तारी से राहत दी जाए। इस नई याचिका में महाराष्ट्र के अलावा तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक तथा जम्मू.कश्मीर और असम राज्य को भी पक्ष बनाया गया है।

इसे भी पढ़ें: आप ने अग्निपथ योजना पर उठाए सवाल, पूछा अग्निवीर बना रहे या जातिवीर, इस पर सेना का आया ये जवाब

दूसरी ओर पश्चिम बंगाल में कोलकाता पुलिस नूपुर शर्मा का लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी है। विगत 02 जुलाई को कोलकाता पुलिस ने शर्मा के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए कहा था कि उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया गया, मगर वो नहीं आई। इसी तरह महाराष्ट्र और तेलंगाना की पुलिस भी नूपुर से पूछताछ करना चाहती है। दूसरी ओर 01 जुलाई को ही नूपुर शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर राहत की मांग कर चुकी थी। मगर कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई से ही इंकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने तब कहा था.आपके चलते देश की स्थिति बिगड़ी हुई है।

इसे भी पढ़ें: छात्राओं के ब्रा उतरवाए गए, NEET का एग्जाम देने पहुंचीं थी, कहा गया- नहीं उतारोगी तो परीक्षा नहीं दे पाओगी


Related post

प्राइवेट पार्ट में टूटी बोतल डाली, आखें निकालकर तेजाब भर दिया, गैंगरेप के तीनों दोषी सुप्रीम कोर्ट से बरी

प्राइवेट पार्ट में टूटी बोतल डाली, आखें निकालकर तेजाब…

दिल्ली के छावाला इलाके की एक 19 वर्षीय युवती को किडनैप कर उसके साथ गैंगरेप और निर्ममता से हत्या के मामले…
आरक्षण पर घमासान : आदिवासी समाज ने हाईकोर्ट में मुख्य सचिव और GAD सचिव के खिलाफ की अवमानना याचिका दायर

आरक्षण पर घमासान : आदिवासी समाज ने हाईकोर्ट में…

छत्तीसगढ़ में आरक्षण को लेकर विवाद लगातार जारी है। विरोध प्रदर्शन के बीच अब मुख्य सचिव अमिताभ जैन और सामान्य प्रशासन…
एक साथ दो-दो सरकारी विभागों में 6 साल तक करता रहा नौकरी, जब खुला राज तो…

एक साथ दो-दो सरकारी विभागों में 6 साल तक…

एक युवक एक साथ दो सरकारी विभाग में नौकरी करता रहा। वह भी महीने दो महीने नहीं बल्कि पूरे 6 साल।…