• 27/09/2022

शिक्षकों की कमी से नाराज छात्रों ने किया चक्काजाम, स्कूल में अव्यवस्थाओं को लेकर प्रबंधन पर लगाए कई आरोप

शिक्षकों की कमी से नाराज छात्रों ने किया चक्काजाम, स्कूल में अव्यवस्थाओं को लेकर प्रबंधन पर लगाए कई आरोप

छ्त्तीसगढ़ के जांजगीर-चााप जिले में शिक्षकों की कमी को लेकर मिडिल स्कूल के छात्र लामबंद हो गए. छात्र-छात्राओं ने चक्काजाम कर दिया. 60 छात्रों ने पामगढ़ से से जांजगीर मुख्यालय जाने वाली बीच सड़क पर बैठ गए और धरना प्रदर्शन करने लगे. इस दौरान छात्रों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की.

दरअसल, पूरा मामला जिले के पामगढ़ ब्लाक के अंतर्गत ग्राम मुड़पार के शासकीय पूर्व माध्यमिक शाला का है. यहां मंगलवार की सुबह 8 बजे से 10 बजे तक स्कूल के लगभग 60 छात्र-छात्राएं स्कूल प्रबंधन के खिलाफ लामबंद हो गए. छात्रों का आरोप है कि स्कूल में भारी अव्यवस्था है. यहां स्कूल में मात्र दो शिक्षक ही पदस्थ हैं. जिससे पढ़ाई प्रभावित हो रही है.

छात्रों ने यह भी आरोप लगाया है कि जो शिक्षक हैं भी वे समय पर नहीं पहुंचते हैं. शिक्षकों की कमी से उनका सिलेबस पूरा नहीं हो पा रहा है. बताया जा रहा है कि स्कूल में दो शिक्षकों में से एक अवकाश पर हैं और दूसरे बीएलओ का काम कर रहे हैं और वोटर आईडी से आधार कार्ड लिंक कराने में लगे हुए हैं. जिससे वे छात्रों को पढ़ा नहीं पा रहे हैं.

बच्चों का कहना है कि बीते दिनों विद्यालय में शिक्षक के नहीं आने पर बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें आश्वासन दिया गया था कि सोमवार से शिक्षक स्कूल आएंगे. छात्रों ने कहा कि शिक्षक न तो कल आए और न ही आज, इसलिए हमने चक्काजाम करने का फैसला किया. वहीं प्रदर्शन के दौरान छात्र-छात्राएं ‘टीचर हमारी मांगें पूरी करो..पूरी करो’ नारा लगाते रहे.

छात्रों ने स्कूल प्रबंधन पर यह भी आरोप लगाए हैं कि उन्हें खराब गुणवत्ता का मध्याह्न भोजन दिया जा रहा है. गुणवत्ताविहीन मिड डे मील से उनकी तबीयत बिगड़ रही है. वहीं छात्र-छात्राओं का कहना है कि स्कूल आने-जाने वाला रास्ता भी बेहद खराब है, जिससे उन्हें आने-जाने में समस्या होती है. उन्होंने कहा कि गंदी और कीचड़ भरी सड़क के कारण उनके कपड़े गंदे हो जाते हैं.

स्कूल भवन को लेकर भी छात्रों ने सवाल खड़े किए. उनका कहना है कि स्कूल भवन जर्जर हो चुका है. कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. यदि छत की मरम्मत नहीं कराई गई तो कभी भी गिर सकती है. इतना ही नहीं स्कूल में छात्राओं के लिए बाथरूम तक नहीं है. जिससे छात्राओं को काफी परेशानी होती है.

वहीं पूरे मामले पर पामगढ़ के बीईओ का कहना है कि बच्चों ने कुछ मांगों को लेकर चक्काजाम किया था, जिसे समझा-बुझाकर खत्म करा दिया गया. उन्होंने कहा  कि एक शिक्षक की नियुक्ति भी कर दी गई है. साथ ही मिड डे मील को लेकर जो शिकायतें मिली हैं, उसे भी जल्द ही ठीक किया जाएगा.


Related post