• 09/08/2022

साय को हटाने पर कांग्रेस ने साधा निशाना, कहा- आज के दिन हटाकर बीजेपी ने गलत किया

साय को हटाने पर कांग्रेस ने साधा निशाना, कहा- आज के दिन हटाकर बीजेपी ने गलत किया

छत्तीसगढ़ में पिछड़ा वर्ग को साधने के लिए बीजेपी ने मंगलवार को विष्णुदेव साय को हटाकर अरूण साव को प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंपी है। विष्णुदेव साय को हटाने पर कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा कि विश्व आदिवासी दिवस के दिन साय को हटाकर बीजेपी ने आदिवासी विरोधी रवैया दिखाया है। विश्व आदिवासी दिवस के दिन ऐसा करना गलत है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने बीजेपी के नए प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव को बधाई दी है। उन्होंने कहा भाजपा का अपने  प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय को हटाकर अरुण साव को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाना यह उनकी पार्टी का अंदरूनी निर्णय है। हम अरुण साव काे शुभकामनाएं देते हैं, लेकिन विश्व आदिवासी दिवस के दिन जिस प्रकार से एक आदिवासी नेता को उनके पद से हटाया गया वह अनुचित है। यह भारतीय जनता पार्टी का आदिवासी समाज के प्रति विद्वेष को प्रदर्शित करता है। कम से कम आदिवासी दिवस के दिन तो विष्णुदेव साय को नहीं हटाया जाना था। यह भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की आदिवासी विरोधी सोच भी इस निर्णय से सामने आती है।

इसे भी पढ़ें : BIG BREAKING : बीजेपी ने विष्णुदेव साय को प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाया, इन्हें दी जिम्मेदारी

इसे भी पढ़ें : नीतीशी कुमार ने राज्यपाल से मिलने मांगा समय, अलग होंगे NDA से, बीजेपी के मंत्री भी गवर्नर को सौंपेंगे इस्तीफा

इसे भी पढ़ें : अनोखे तरीके से चोरों ने की बाइक शोरूम से 7.70 लाख रुपये की चोरी, चारों तरफ बिखेर दिया मिर्ची पाउडर

 


Related post

BJP प्रत्याशी पर दुष्कर्म के आरोप पर पार्टी का दावा – पीड़िता ने न्यायाधीश के समक्ष 164 के बयान में नहीं लिया ब्रह्मानंद नेताम का नाम

BJP प्रत्याशी पर दुष्कर्म के आरोप पर पार्टी का…

रायपुर। प्रदेश भाजपा ने भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव के प्रत्याशी पर लगाए जा रहे संगीन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया…
CG के इस जिले में एक ही कमरे में चल रहा पूरा स्कूल, अव्यवस्थाओं के बीच पढ़ने को मजबूर बच्चे

CG के इस जिले में एक ही कमरे में…

छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार शिक्षा को लेकर लाख दावे कर ले, लेकिन हकीकत इससे परे हैं. इसका ताजा उदाहरण सरगुजा जिले…
Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के बाद 67 की उम्र में जोड़े ने की शादी, आशीर्वाद देने पहुंचे 4 गांव के लोग

Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के…

मोहब्बत कभी जाति-धर्म, ऊंच-नीच नहीं देखता है और न ही किसी बंधन का मोहताज होता है. इसका एक बेमिशाल उदाहरण छत्तीसगढ़…