• 17/05/2022

खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान पर, थोक महंगाई दर 9 साल के उच्चतम स्तर पर

खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान पर, थोक महंगाई दर 9 साल के उच्चतम स्तर पर

नई दिल्ली। महंगाई की मार झेल रही जनता की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही है। खुदरा महंगाई के बाद अब थोक महंगाई ने भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। वाणिज्‍य मंत्रालय ने मंगलवार को थोक मूल्‍य आधारित सूचकांक (WPI) के आंकड़े जारी किए। सरकार के आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल महीने में महंगाई सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए पिछले 9 सालों में अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। अप्रैल महीने में थोक महंगाई दर 15.08 फीसदी के उच्चतम स्तर पर रही, जबकि मार्च में ये दर 14.55 फीसदी पर थी।

अप्रैल में महंगाई दर की मुख्य वजह बताते हुए वाणिज्य मंत्रालय ने कहा कि मुद्रास्फीति की उच्च दर मुख्य रूप से कच्चे पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस, खनिज तेलों, मूल धातुओं, खाद्य पदार्थों, खाद्य उत्पादों, गैर-खाद्य वस्तुओं, रसायनों और रासायनिक उत्पादों की कीमतों में वृद्धि के कारण थी। सरकार के मुताबिक यह तेजी रुस-यूक्रेन युद्ध का असर ग्लोबल सप्लाई चेन में उत्पन्न हुए व्यवधान की वजह से पैदा हुआ है।

अप्रैल महीने में खाद्य वस्तुओं की महंगाई दर 8.35 फीसदी रही, जबकि मार्च में ये 8.06 फीसदी पर थी। मैन्युफैक्चरिंग प्रोडक्ट्स की महंगाई दर अप्रैल में 10.85 फीसदी पर रही जो कि मार्च में 10.71 फीसदी पर थी। वहीं फ्यूल और पावर की महंगाई दर बढ़कर 38.66 फीसदी पर रही जो कि मार्च में 34.52 फीसदी थी।

इसे भी पढ़ें : मौसम : समय से पहले मानसून देगा दस्तक, भीषण गर्मी से मिलेगी निजात


Related post