• 16/07/2022

दही के इन चमत्कारिक गुणों से क्या आप हैं वाकिफ ?

दही के इन चमत्कारिक गुणों से क्या आप हैं वाकिफ ?

द तथ्य डेस्क।  भारतीय खानपान में प्राचीन समय से ही दही का विशेष महत्व रहा है। कई औषधीय गुणों से भरपूर दही जहां खाने में स्वादिष्ट होता है तो वहीं इसके गुणों से हमारा पाचन तंत्र भी मजबूत बनता है। इसके औषधीय गुणों का इससे बड़ा प्रमाण और क्या होगा कि भारतीय संस्कृति में जहां इसे खाने में उपयोग किया जाता है तो वहीं वैदिक पूजापाठ में भी इसका भरपूर प्रयोग किया जाता है। प्राकृतिक रूप से शरीर को ठंडक प्रदान करने वाले इस बहुउपयोग पदार्थ के कई अन्य उपयोग भी होता है।

इंफेक्शन में प्रयोग :

शरीर में जहां इंफेक्शन हुआ है वहां रूई की मदद से दही लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें। दिन में कम से कम 2 से 3 बार इसे लगाएं। बहुत जल्द आराम मिलेगा।

दही में टी-ट्री ऑयल की दो से तीन बूंदे मिलाकर फंगल इंफेक्शन वाली जगह लगाएं। टी ट्री ऑयल में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं जो इंफेक्शन दूर करने का काम करते हैं। इस मिक्सचर को इंफेक्शन वाली जगह पर लगाकर रातभर के लिए छोड़ दें और सुबह धोएं। महज दो से तीन दिनों के अंदर ही असर दिखने लगेगा।

लहसुन तो फंगल इंफेक्शन दूर करने में सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। इसकी कुछ कलियां पीस लें और इसे दही में मिक्स करके लगाएं।

दही में थोड़ा सा कपूर पीस कर मिक्स करें फिर इसे संक्रमण वाली जगह पर लगाकर हल्का मसाज करें। दही में आप एलोवेरा जेल भी मिक्स कर सकते हैं।

फंगल इंफेक्शन की समस्या दूर करने के लिए डाइट में भी दही शामिल करें। दही को स्मूदी, रायता या फिर फलों या सीड्स के साथ मिक्स करके खाया जा सकता है। रात में दही खाना अवॉयड करें।

इसे भी पढ़ें : अमेजन जंगल की बेतहाशा कटाई : ब्राजील ने 6 माह में ही न्यूयॉर्क से 6 गुना बड़ा इलाका काट डाला

 


Related post

गद्दार कहे जाने पर सचिन पायलट का अब आया बड़ा रिएक्शन, जानिए क्या कहा

गद्दार कहे जाने पर सचिन पायलट का अब आया…

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर इस वक्त सबकी नजर है। वजह अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच का…
मंदिरों में मोबाइल फोन ले जाने पर हाईकोर्ट ने लगाया बैन, दिया ये आदेश

मंदिरों में मोबाइल फोन ले जाने पर हाईकोर्ट ने…

मोबाइल आजकल हर किसी की जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है। ऐसी कोई भी जगह नहीं होगी कि जहां हम…
आरक्षण विधेयक पर राज्यपाल ने अभी नहीं किए हस्ताक्षर, बताई ये वजह

आरक्षण विधेयक पर राज्यपाल ने अभी नहीं किए हस्ताक्षर,…

छत्तीसगढ़ में आरक्षण संशोधन विधेयक गुरुवार को सर्वसम्मित से पारित हो गया है। सभी वर्गों (SC, ST, OBC, EWS) के लिए…