• 21/09/2022

दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी की आत्महत्या का मामला, महासंघ ने की 50 लाख मुआवजे के साथ SIT जांच की मांग

दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी की आत्महत्या का मामला, महासंघ ने की 50 लाख मुआवजे के साथ SIT जांच की मांग

दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी योगेश वानखेड़े की आत्महत्या के मामले में छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ ने प्रदेश सरकार ने उनके परिवार के लिए 50 लाख रुपए की सहायता राशि की मांग की है. साथ ही महासंघ ने परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी की भी मांग की है.

दरअसल, बीते रोज योगेश वानखेड़े ने नया रायपुर के विभागाध्यक्ष परिसर में आत्महत्या कर लिया था. जिसको लेकर महासंघ ने सरकार से योगेश की आत्महत्या को लेकर जांच के लिए एसआईटी गठित करने और दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है.

वहीं महासंघ का आरोप है कि शासकीय कार्यालयों में कार्यरत लाखों अनियमित कर्मचारी मध्य-युगीन बंधुआ मजदुर से भी बदतर जीवन जीने मजबूर हैं. नियंत्रक अधिकारी इन कर्मचारियों की चरम सीमा तक शोषण कर रहे हैं.

उनका कहना है कि अनियमित कर्मचारियों की नौकरी से निकालने, असंवैधानिक कार्य करवाने, कार्यालय कभी बुलाने, दबाव में डिप्रेशन में चले जाने, महिला कर्मचारियों को देर तक रोकने, नियंत्रक अधिकारी से विवाद होने की शिकायते निरंतर मिलती रहती है. ये कर्मचारी पारिवारिक जिम्मेदारी एवं नौकरी की असुरक्षा के कारण कोल्हू के बैल की तरह काम करते रहते हैं. जिसको लेकर अनियमित कर्मचारियों में भारी आक्रोश है.

महासंघ ने कहा कि सरकार द्वारा 12 सितंबर को जारी तुगलकी फरमान ने प्रशासनिक संघर्ष को आग में घी डालने का काम किया है. एक तरफ सरकार किसी अनियमित कर्मचारी की छटनी नहीं करने का वादा किया है, तो दूसरी और निरंतर छटनी की जा रही है. हम ऐसे तुगलकी फरमान का कड़े शब्दों में निंदा करते हैं और सरकार से मांग करते हैं कि इस पत्र को वापस लें.

महासंघ का कहना है कि सरकार अनियमित कर्मचारियों को 10 दिन में नियमित करने के अपने वादे को पूरा न कर इन्हें तोड़ने के लिए हथकंडे अपना रही है. इसके अलावा महासंघ ने प्रदेश के सभी अनियमित कर्मचारियों से अपील की है कि विषम परिस्थियों में धैर्य से काम लें एवं अपने ऊपर हो रहे अत्याचार का संवैधानिक तरीका से विरोध करें.

गौरतलब है कि मंगलवार को नवा रायपुर स्थित मंत्रालय परिसर में एक दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी, ड्राइवर ने बेरोजगारी से परेशान होकर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. हाल में ही उसे छंटनी कर नौकरी से हटा दिया गया था. कर्मचारी की इस मौत से अब दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के संगठनों में आक्रोश है.

इसे भी पढ़ें: Viral Video: गर्मी से बचने के लिए बाबा का गजब का जुगाड़, देखकर आप भी रह जाएंगे दंग

इसे भी पढ़ें: Big Breaking: कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का निधन, AIIMS में चल रहा था इलाज

इसे भी पढ़ें: Breaking News: मालगाड़ी पटरी से उतरी, कई ट्रेनें प्रभावित

इसे भी पढ़ें: होमवर्क न करने की बाप ने दी मासूम को दर्दनाक सजा, बेटे को जलाकर मारा

इसे भी पढ़ें: राजधानी में बड़ा सड़क हादसा: डिवाइडर पर सो रहे लोगों को ट्रक ने कुचला, 4 की दर्दनाक मौत


Related post