• 15/07/2022

छत्तीसगढ़ का यह इलाका बाढ़ में डूबा, आधा दर्जन से ज्यादा गांव जलमग्न, सैकड़ों परिवार हुए बेघर, रेस्क्यू जारी

छत्तीसगढ़ का यह इलाका बाढ़ में डूबा, आधा दर्जन से ज्यादा गांव जलमग्न, सैकड़ों परिवार हुए बेघर, रेस्क्यू जारी

सुकमा। छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में जारी अनवरत बारिश से कई जगह बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। शबरी नदी लगातार उफान पर है। शबरी नदी के पानी ने आधा दर्जन से ज्यादा गांवोंं को अपनी चपेट में ले लिया है। वहीं कोंटा नगर पंचायत के तकरीबन 5 वार्ड पानी में डूब गए हैं। बचाव दल लगातार बोट के सहारे बाढ़ में फंसे लोगों का रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रहे है। वहीं नेशनल हाईवे क्रमांक-30 भी जलमग्न हो गया है। जिसकी वजह से यातायात पूरी तरह से बाधित है।

लगातार बारिश के चलते शबरी नदी उफान पर है, यही वजह है कि नदी के आसपास के इलाकों में लगातार जलभराव की स्थिति बन रही है। दूसरी ओर शबरी नदी आगे जाकर गोदावरी नदी में मिल जाती है। इस समय तेलंगाना में भी लगातार बारिश के चलते गोदावरी नदी भी पूरे उफान पर है, इस परिस्थिति के चलते हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार कोंटा नगर पंचायत में आई बाढ़ से पांच वार्ड पानी में डूब गए हैं। लोगों को रेस्क्यु टीम द्वारा बचाकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है।

राष्ट्रीय राजामार्ग 30 के भी जलमग्न हो जाने के कारण यातायात बुरी तरह से बाधित हो गया है। आज दोपहर शबरी नदी का जलस्तर करीब 70 फीट पर था, यहां का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। यही वजह है कि बचाव दल को भी लगातार मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित कैंपों तक पहुंचाया जा रहा है। सुरक्षा के लिहाज से आश्रमों व स्कूलों के बच्चों को भी कैंपों में पहुंचाया गया है। बताया जाता है कि कोंटा नगर पंचायत के जिन वार्डों में पानी भर गया है उनमें वार्ड नंबर 5, 6, 13, 14 और 15 शामिल हैं। इसके साथ ही डोंड्रा, संदीपगुड़ा, इंजरम, फंदीगुड़ा समेत अन्य गांव भी बाढ़ की चपेट में आए हैं। इन सभी वार्ड और ये दोनों गांव के 100 से ज्यादा परिवारों के सैकड़ों लोगों का रेस्क्यू किया गया है।

सभी को कोंटा में ही बनाए गए राहत शिविर कैंप में लाकर रखा गया है। जहां, प्रशासन की टीम ने सभी के लिए खाने से लेकर रहने तक की व्यवस्था की है। वहीं रेस्क्यू टीम बोट के सहारे लगातार गांवों में गश्त कर बाढ़ में फंसे लोगों को बचा रही है। अधिकांश लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है। वहीं उच्चाधिकारियों के निर्देशन में राहत व बचाव का कार्य लगातार जारी है।

इसे भी पढ़ें-कोयले से लदी मालगाड़ी के चार डिब्बे हुए डिरेल यह तो शुक्र है कि…

इसे भी पढ़ें-राष्ट्रीय राजमार्ग में स्थित इस नाले को जान जोखिम में डालकर पार करना लोगों की मजबूरी, जिम्मेदार नहीं लेते सुध


Related post

नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED, हो सकती थी भारी तबाही, CRPF ने माओवादियों के मंसूबों को ऐसा किया नाकाम

नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED,…

छत्तीसगढ़ में तैनात CRPF के जवानों ने एक बार फिर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया है। फोर्स को…
Heavy Rain in Chattisgarh: बस्तर संभाग के इन जिलों में भारी बारिश ने मचाई तबाही, सैकड़ों गांवों का टूटा संपर्क

Heavy Rain in Chattisgarh: बस्तर संभाग के इन जिलों…

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में शनिवार देर रात से लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है. बीते 6 घंटों से लगातार बस्तर…
परीक्षा परिणाम घोषित : 2100 युवा बने बस्तर टाइगर, 7 जिलों के लिए हुई थी परीक्षा

परीक्षा परिणाम घोषित : 2100 युवा बने बस्तर टाइगर,…

बस्तर फाइटर्स फोर्स की भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित हो गया है। बस्तर फाइटर्स फोर्स में 2100 युवाओं का चयन हुआ…