• 27/07/2022

नक्सलियों की ये कैसी चाल? पुतले के हाथ में बंदूक पकड़ाकर लगाया एंबुश

नक्सलियों की ये कैसी चाल? पुतले के हाथ में बंदूक पकड़ाकर लगाया एंबुश

द तथ्य डेस्क। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर संभाग में नक्सलियों ने शहीदी सप्ताह के एक दिन पहले ही सुरक्षाबलों को बड़ा नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से दंतेवाड़ा-नारायणपुर सड़क मार्ग में नकली एंबुश लगाया था। नक्सलियों ने यहां पेड़ों की ओट में लकड़ी की बंदूक लिए पुतले खड़े किए थे, पेड़ काटकर सड़क बंद कर दिया था।

इसे भी पढ़ें : बस्तर में BDS टीम को मिला बम डिफ्यूज सूट का कवच, नहीं होगा ब्लास्ट का असर

बस्तर में सक्रिय माओवादी कल 28 जुलाई से 03 अगस्त तक चारू मजुमदार शहीदी दिवस सप्ताह मनाने वाले हैं। एक सप्ताह तक चलने वाले इस शहीदी सप्ताह के ठीक पहले नक्सलियों ने सुरक्षाबलों को फंसाने व नुकसानपहुंचाने की साजिश रचते हुए दंतेवाड़ा जिले को नारायणपुर से जोड़ने वाली सड़क में नक्सली एंबुश लगाकर सुरक्षाबलों को गुमराह करने का प्रयास किया। नक्सलियों ने इस मार्ग में कई स्थानों पर पेड़ काटकर सड़क को अवरूद्ध कर दिया था। वहीं सड़क में कुछ स्थानों पर बड़े-बडे़ पत्थर रखकर मार्ग बंद कर दिया था। इसके अलावा जगह-जगह पर बैनर-पोस्टर लगाकर लोगों से शहीदी सप्ताह मनाने की अपील कर रहे हैं। नक्सलियों ने सड़क किनारे पेड़ों में लकड़ी की बंदूक लिए पुतले खड़े कर दिए थे। इन पुतलों को देखकर हर कोई यही समझता कि यहां नक्सली घात लगाकर बैठे हैं।

इसे भी पढ़ें : कश्मीरी पंडितों का हत्यारा आतंकी यासीन मलिक की तबियत बिगड़ी, तिहाड़ में कर रहा था भूख हड़ताल

नक्सलियों ने बस्तर के अलग-अलग जिलों में बैनर पोस्टर चस्पा कर दिया है इसके अलावा प्रेसनोट जारी कर शहीद सप्ताह को सफल बनाने की अपील की है। नक्सलियों द्वारा लगाए गए बैनर-पोस्टरों में लिखा है-भारतीय क्रांति के पथ प्रदर्शक, शिक्षक और माओवाद पार्टी के संस्थापक चारू मजूमदार की 50वीं सालगिरह को क्रांतिकारी जोश के साथ गांव-गांव में मनाया जाए।
इसे भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ में भी मंकीपॉक्स की दस्तक, यहां मिले दो संदिग्ध मरीज


Related post

CG के इस जिले में एक ही कमरे में चल रहा पूरा स्कूल, अव्यवस्थाओं के बीच पढ़ने को मजबूर बच्चे

CG के इस जिले में एक ही कमरे में…

छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार शिक्षा को लेकर लाख दावे कर ले, लेकिन हकीकत इससे परे हैं. इसका ताजा उदाहरण सरगुजा जिले…
Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के बाद 67 की उम्र में जोड़े ने की शादी, आशीर्वाद देने पहुंचे 4 गांव के लोग

Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के…

मोहब्बत कभी जाति-धर्म, ऊंच-नीच नहीं देखता है और न ही किसी बंधन का मोहताज होता है. इसका एक बेमिशाल उदाहरण छत्तीसगढ़…
नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED, हो सकती थी भारी तबाही, CRPF ने माओवादियों के मंसूबों को ऐसा किया नाकाम

नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED,…

छत्तीसगढ़ में तैनात CRPF के जवानों ने एक बार फिर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया है। फोर्स को…