• 18/07/2022

छत्तीसगढ़ के तीन जिलों में अभी भी अच्छी बारिश के लिए तरस रहे लोग

छत्तीसगढ़ के तीन जिलों में अभी भी अच्छी बारिश के लिए तरस रहे लोग

रायपुर। छत्तीसगढ़ में हो रही झमाझम बारिश से जहां नदी-नाले उफान पर आ गए हैं तो वहीं राज्य के तीन जिलों में अभी भी अच्छी बारिश का इंतजार किया जा रहा है। वहीं एक जिले में जरूरत से जयादा बारिश हो चुकी है तो वहीं दो जिलों में अधिक बारिश से स्थिति बिगड़ी हुई है।

इसे भी पढ़ें: यहां यात्री बस रेलिंग तोड़ गिरी नदी में, अब तक 13 सवार शव बरामद

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के बालोद, बीजापुर जिले में जहां बहुत अधिक बारिश रिकार्ड की जा चुकी है तो वहीं बलरामपुर, जशपुर तथा सरगुजा में अभी भी बारिश का ग्राफ सामान्य भी नहीं पहुंच पाया है। इन तीनों जिलों में वर्षा की बड़ी कमी बनी हुई है। इन तीनों जिलों के लोगों को खेती-किसानी के लिए अभी भी अच्छी बारिश का इंतजार है। मगर इन जिलों में इंद्रदेव की नजर ही नहीं पड़ रही है। लिहाजा जिलेवासियों को बेसब्री से मानसून की झमाझम बारिश का इंतजार है। उनका यह इंतजार कब खत्म होगा, यह कहना भी मुश्किल है।

किसी क्षेत्र में अच्छी बारिश के लिए मौसम की अनुकूलता तथा सही परिस्थितियां बननी जरूरी है। दूसरी ओर राज्य के 12 जिलों में औसत से अधिक बारिश हो चुकी है। इनमें बलौदाबाजार, बस्तर, बिलासपुर, गरियाबंद, जांजगीर-चांपा, कबीरधाम, कांकेर, कोण्डागांव तथा मुंगेली जिला शामिल है।

इसे भी पढ़ें: इस विधायक ने राष्ट्रपति चुनने सबसे पहले किया मतदान

वहीं राजधानी रायपुर सहित चार ऐसे जिले हैं जहां अब तक केवल न्यूनतम वर्षा ही रिकार्ड की जा सकी है। जबकि पिछले कुछ दिनों में राजधानी रायपुर सहित अन्य इलाकों में मानसून की झमाझम वर्षा हो रही है। न्यूनतम वर्षा  वाले जिलों में रायपुर के साथ ही कोरबा, कोरिया तथा सूरजपुर जिला शामिल है। राजधानी रायपुर में जहां सामान्य से अब तक 26 प्रतिशत कम बारिश हुई है तो वहीं कोरबा में 20 तथा कोरिया जिले में 45 प्रतिशत कम बारिश ने किसानों को चिंता में डाल दिया है। इसी तरह सूरजपुर में औसत से अब तक 39 प्रतिशत कम शामिल हुई है। ज्ञात हो कि गत सप्ताह प्रदेश में हुई झमाझम बारिश से बीजापुर जिले में आई भयंकर बाढ़ से कई गांव डूब गए थे। इधर गरियाबंद, कांकेर, धमतरी जिलों में हुई भयंकर बारिश से नदी-नालों के उफान पर आ जाने तथा प्रदेश के सबसे बड़े बांध गंगरेल के लबालब पैक हो जाने के बाद रविवार को गंगरेल बांध के सारे गेट खोलकर अतिरिक्त पानी निकाला गया है। इसके चलते महानदी और इसकी सहायक नदियां फिर से उफान पर आ गई है।

इसे भी पढ़ें: बिलासपुर हाईकोर्ट को जल्द मिलेंगे दो नए जज, सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दी मंजूरी


Related post

Weather Update Today: पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी से गिर रहा तापमान, इन राज्यों में बढ़ेगा सर्दी का सितम, जानिए CG में कैसा रहेगा मौसम

Weather Update Today: पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी से गिर…

उत्तर भारत के राज्यों में ठंड की शुरुआत होने लगी है. ज्यादातर जगहों पर सुबह-सुबह कोहरा नजर आने लगा है. तापमान…
Weather Update Today: पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी से लुढ़का पारा, छत्तीसगढ़ समेत इन राज्यों में इस साल ज्यादा पड़ेगी ठंड

Weather Update Today: पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी से…

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है. जिस कारण मैदानी इलाकों में भी ठंड बढ़ने लगी है. दिल्ली, छत्तीसगढ़ समेत अन्य…
CG के इस जिले में एक ही कमरे में चल रहा पूरा स्कूल, अव्यवस्थाओं के बीच पढ़ने को मजबूर बच्चे

CG के इस जिले में एक ही कमरे में…

छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार शिक्षा को लेकर लाख दावे कर ले, लेकिन हकीकत इससे परे हैं. इसका ताजा उदाहरण सरगुजा जिले…