• 27/07/2022

बस्तर में BDS टीम को मिला बम डिफ्यूज सूट का कवच, नहीं होगा ब्लास्ट का असर

बस्तर में BDS टीम को मिला बम डिफ्यूज सूट का कवच, नहीं होगा ब्लास्ट का असर

द तथ्य डेस्क। बस्तर में लाल आतंकियों का मुकाबला करने वाले सुरक्षाबलों को अब IED बम का खतरा काफी कम हो जाएगा। बस्तर के नारायणपुर जिले में BDS (बम निरोधक दस्ते) की टीम को जहां अत्याधुनिक उपकरणें दी गई हैं तो उन्हें एक स्पेशल सूट भी दिया गया है। इस सूट पर धमाकों का असर नहीं होता। BDS की टीम को इसके लिए प्रशिक्षित भी किया गया है।

इसे भी पढ़ेंः DA-HRA पर मुख्यमंत्री का सदन में बड़ा बयान…

बस्तर में लाल आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देने वाले सुरक्षाबलों को नक्सलियों से ज्यादा जमीन, पेड़ों की ओट में तथा घास-फूस में छिपाकर रखी गई IED बम से खतरा होता है। इन बमों की चपेट में आकर जवान या तो शहीद हो जाता है या गंभीर रूप से जख्मी हो जाता है। नक्सलियों द्वारा लगातार IED बमों का उपयोग किया जाना आम बात है, लेकिन इससे होने वाले जान-माल के नुकसान को देखते हुए अब टीम ने भी इसका तोड़ निकाल लिया है। नारायणपुर में बम निरोधक दस्ता BDS को जहां आधुनिक उपकरणों से लैस कर दिया गया है तो वहीं इन्हें एक स्पेशल सूट भी दिया गया है। इस सूट को पहनने के बाद धमाकों का कोई असर नहीं होता। इसके अलावा जमीन के नीचे, पेड़ों की ओट में तथा घास-फूस के भीतर छिपाकर रखे गए IED बम को भी ढूंढना आसान हो जाएगा।

इसे भी पढ़ेंः इस ग्रुप ने की CM से मुलाकात, राज्य में जल्द शुरू होगी थ्री.डी. प्रिन्टिग, रोबोटिक्स जैसे नये ट्रेड पर पढ़ाई

इसके लिए BDS की टीम को आधुनिक उपकरण दिया गया है, इसके अलावा इन्हें अब इस तरह से प्रशिक्षित किया गया है कि ये आसानी से प्लांट किए गए बमों को ढूंढ कर उसे निष्क्रिय कर सकते हैं। नारायणपुर पुलिस लाईन में इसके लिए बकायदा एक डेमो भी किया गया। इसमें सबसे पहले जमीन में छिपाकर रखे गए बम को स्निफर डॉग की मदद से ढूंढा गया। फिर स्पेशल उपकरणों की मदद से इसे सुरक्षित बाहर निकालकर स्पेशल सूट पहनकर जवान ने निष्क्रिय कर दिया। इस पूरे डेमो को उच्चाधिकारियों ने भी देखा और जमीर तारीफ की। ज्ञात हो कि जंगल में नक्सलियों की टोह लेने निकलने वाले जवानों के आगे स्निफर डॉग की टीम, BDS की टीम चलती है, इसके बाद जवानों का बल पीछे होता है। IED ब्लास्ट के चलते अब तक कई जवान शहीद हो चुके हैं और कई जीवन भर के लिए अपंगता का शिकार हो चुके हैं, लेकिन इस नई तकनीक से अब इस तरह के घटनाओं में निश्चित रूप से कमी आएगी।

इसे भी पढ़ेंः कश्मीरी पंडितों का हत्यारा आतंकी यासीन मलिक की तबियत बिगड़ी, तिहाड़ में कर रहा था भूख हड़ताल


Related post

Weather Update Today: पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी से गिर रहा तापमान, इन राज्यों में बढ़ेगा सर्दी का सितम, जानिए CG में कैसा रहेगा मौसम

Weather Update Today: पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी से गिर…

उत्तर भारत के राज्यों में ठंड की शुरुआत होने लगी है. ज्यादातर जगहों पर सुबह-सुबह कोहरा नजर आने लगा है. तापमान…
Weather Update Today: पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी से लुढ़का पारा, छत्तीसगढ़ समेत इन राज्यों में इस साल ज्यादा पड़ेगी ठंड

Weather Update Today: पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी से…

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है. जिस कारण मैदानी इलाकों में भी ठंड बढ़ने लगी है. दिल्ली, छत्तीसगढ़ समेत अन्य…
नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED, हो सकती थी भारी तबाही, CRPF ने माओवादियों के मंसूबों को ऐसा किया नाकाम

नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED,…

छत्तीसगढ़ में तैनात CRPF के जवानों ने एक बार फिर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया है। फोर्स को…