• 27/07/2022

मानसून की मेहरबानी से राजस्थान में पानी का जलजला

मानसून की मेहरबानी से राजस्थान में पानी का जलजला

द तथ्य डेस्क। राजस्थान के लोगों ने शायद ही ऐसी बरसात देखी होगी जैसा वर्तमान में हो रहा है। मानसून की मेहरबानी से इस वर्ष राजस्थान जैसे सूखे इलाके में भी हो रही झमाझम बारिश से लोगों का जनजीवन बुरी तरह से अस्तव्यस्त हो गया है। राज्य के अधिकांश जिलों में हो रही झमाझम बारिश से जहां लोगों के चेहरे खिले हुए हैं तो वहीं निचली बस्तियों में जलभराव के कारण हजारों परिवार मुसीबत में फंस गए। आलम यह है कि रेगिस्तान के इस समंदर में भारी बारिश के कारण चार पहिया वाहने भी तेज बहाव में बह गए।

इसे भी पढ़ेंः कश्मीरी पंडितों का हत्यारा आतंकी यासीन मलिक की तबियत बिगड़ी, तिहाड़ में कर रहा था भूख हड़ताल

राजस्थान में हो रही झमाझम बारिश से हर कोई आश्चर्य में है। इस राज्य में औसत से भी कम बारिश रिकार्ड की जाती रही है। लेकिन इस वर्ष इंद्रदेव की मेहरबानी से रेत के समंदर में भी पानी का सैलाब देखने को मिल रहा है। राजस्थान के अधिकांश जिलों में अब तक अच्छी बारिश हो चुकी है। मानसून इस समय पश्चिमी राजस्थान मे मेहरबान हुआ है। जानकारी के अनुसार जालोर, पाली, नागौर, जैसलमेर सहित कई जिलों में चौबीस घंटों के दौरान 225 एमएल तक बारिश रिकार्ड की जा चुकी है। वहीं दूसरी ओर जयपुर के साथ चार अन्य जिलों में अच्छी बारिश का अभी भी इंतजार हो रहा है।

इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ में भी मंकीपॉक्स की दस्तक, यहां मिले दो संदिग्ध मरीज

यहां सबसे ज्यादा बारिश:
मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान में अब तक सबसे अधिक वर्षा जालोर जिले में रिकार्ड की गई है। यहां बीते चौबीस घंटों के दौरान सबसे ज्यादा 9 इंच बारिश दर्ज की गई है। यहां का भीनमाल में तेज बारिश के बीच रोपसी नदी पार करते समय एक कार के बह जाने से हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने पुलिस की मदद से कार में सवार दो लोगों को सुरक्षित बचा लिया।

जोधपुर में 7 इंच बारिशः 
वहीं जोधपुर शहर में लगातार दो दिन हुई झमाझम बारिश के बाद जहां जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है तो वहीं प्रशासन ने आज दूसरे दिन भी शैक्षणिक संस्थाओं और स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया है। जोशपुर में 7 इंच बारिश से निचले इलाकों में जलभराव हो गया है। वहीं कई कालोनियां और निचली बस्तियां जलमग्न हो गई है। इसी तरह फलोदी, बिलाड़ा, ओसियां, बालेसर समेत अन्य जगहों पर 60 से लेकर 174एमएम तक बरसात हुई। जोधपुर शहर के रानीसर व पदमसर में तेज बारिश के बाद पहाड़ों से बहर रहे जलधाराओं के चलते आसपास के इलाके जलमग्न हो गए। वहीं कई ट्रेनों का संचालन भी प्रभावित हो गया।

इसे भी पढ़ेंः PMLA : चिकन खुद पकने आ गया, भाजपा नेता ने कांग्रेस पर कसा तंज


Related post

यहां महिला ने दो सिर, 4 हाथ-पैर वाले बच्चे को दिया जन्म, देखकर अचम्भे में पड़ जाएंगे आप भी…

यहां महिला ने दो सिर, 4 हाथ-पैर वाले बच्चे…

राजस्थान के नागौर में एक महिला ने ऐसे जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है. जिसे देखने के लिए लोगों की भीड़…
गहलोत की विदाई तय! विधायक दल की होगी बैठक, आलाकमान ने तय किया CM का नाम

गहलोत की विदाई तय! विधायक दल की होगी बैठक,…

राजस्थान में सियासी संकट के बीच कांग्रेस सरकार के भविष्य पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। सवाल एक ही है कि…
गहलोत गुट का दांव पड़ा उल्टा! इन 3 शर्तों से आलाकमान नाराज

गहलोत गुट का दांव पड़ा उल्टा! इन 3 शर्तों…

राजस्थान कांग्रेस में सियासी संकट गहराया हुआ है। नए सीएम के लिए सचिन पायलट के नाम की आशंका पर अशोक गहलोत…