• 28/07/2022

ट्रेन से हो रही थी बच्चों की तस्करी, आरपीएफ ने दबिश देकर नाबालिगों को छुड़ाया

ट्रेन से हो रही थी बच्चों की तस्करी, आरपीएफ ने दबिश देकर नाबालिगों को छुड़ाया

द तथ्य डेस्क। रायगढ़ से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है। यहां आधा दर्जन नाबालिगों की तस्करी करते हुए एक युवक को हटिया-एलटीटी एक्सप्रेस (ट्रेन ) से पकड़ा गया है। आरोपी बच्चों को काम दिलाने के  बहाने इस ट्रेन में बिठाकर झारखंड से ला रहा था।

इसे भी पढ़ें : मुख्यमंत्री 5 लीटर गौमूत्र बेचकर बने पहले विक्रेता, छ.ग. में आज से गौमूत्र खरीदी योजना शुरू 

आरपीएफ सूत्रों की माने तो आज गाड़ी संख्या 12812 हटिया-मुंबई लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस में रूटीन चेकिंग की जा रही थी। इसी दौरान बोगी एस-1 में एक युवक की गतिविधि संदिग्ध लगी और उसके साथ 6 नाबालिग बच्चे भी थे। जीआरपी ने आरोपी युवक से पूछताछ किया तो उसने अपना नाम मनोज टूड्डू पिता बाबू लाल टूड्डू 30 वर्ष बताया। पूछताछ में पता चला कि वह हजारीबाग झारखंड से आधा दर्जन बच्चों को काम दिलाने के बहाने अपने साथ ले जा रहा था। बच्चों से हुई पूछताछ में पता चला कि वे सभी हजारीबाग झारखंड के निवासी हैं।

इसे भी पढ़ें : BREAKING : अविश्वास प्रस्ताव ध्वनिमत से गिरा, सीएम ने दिया विपक्ष के सभी आरोपों का जवाब, कहा- काम करते समय त्रुटि हो सकती है लेकिन नीयत में खोट नहीं

मामला संगीन होने के कारण तत्काल इसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। इधर बिलासपुर में ऑपरेशन नन्हें फरिश्ते एवं मानव तस्करी के विरूध जारी अभियान को देखते हुए मामले की विस्तार से जॉच की गई। बिलासपुर में सहायक सुरक्षा आयुक्त आर. जेम्स, निरीक्षक भास्कर सोनी एवं रेलवे चाइल्ड लाईन बिलासपुर कर्मचारी अल्का फॉल्क एवं अन्य द्वारा गाड़ी को अटेण्ड किया गया। पूछताछ में बच्चों ने बताया कि वे श्रमिक काम करने के लिए सूरज व कर्नाटक जा रहे हैं, इससे टीम को यकीन हो गया कि आरोपी युवक उन्हें बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जा रहा है।

इसे भी पढ़ें : मंकीपॉक्स से बचने केन्द्र ने जारी किया गाइडलाइंस, दिए ये निर्देश…

रेलवे चाइल्ड लाईन बिलासपुर द्वारा घटना की जानकारी बाल कल्याण समिती बिलासपुर को दी गई। ऑपरेशन नन्हें फरिश्ते के अंतर्गत उक्त 6 नाबालिकों को उप निरीक्षक कुलदीप सिंह द्वारा रेलवे चाइल्ड लाइन बिलासपुर को सुपुर्द किया गया। वहीं अधिकारियों ने बच्चों से नाम-पता लेकर उनके परिजनों को भी इसकी सूचना दे दी है।

इसे भी पढ़ें : बस्तर में BDS टीम को मिला बम डिफ्यूज सूट का कवच, नहीं होगा ब्लास्ट का असर


Related post

CG के इस जिले में एक ही कमरे में चल रहा पूरा स्कूल, अव्यवस्थाओं के बीच पढ़ने को मजबूर बच्चे

CG के इस जिले में एक ही कमरे में…

छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार शिक्षा को लेकर लाख दावे कर ले, लेकिन हकीकत इससे परे हैं. इसका ताजा उदाहरण सरगुजा जिले…
Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के बाद 67 की उम्र में जोड़े ने की शादी, आशीर्वाद देने पहुंचे 4 गांव के लोग

Live-in-Relationship की अनोखी प्रेम कहानी: 30 साल लिव-इन के…

मोहब्बत कभी जाति-धर्म, ऊंच-नीच नहीं देखता है और न ही किसी बंधन का मोहताज होता है. इसका एक बेमिशाल उदाहरण छत्तीसगढ़…
नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED, हो सकती थी भारी तबाही, CRPF ने माओवादियों के मंसूबों को ऐसा किया नाकाम

नक्सलियों ने फोर्स को निशाना बनाने लगाई थी IED,…

छत्तीसगढ़ में तैनात CRPF के जवानों ने एक बार फिर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया है। फोर्स को…