• 12/07/2022

हाईकोर्ट का बड़ा फैसला : पति की मृत्यु पर ससुर पर भरण-पोषण का दावा कर सकती है विधवा बहू

हाईकोर्ट का बड़ा फैसला : पति की मृत्यु पर ससुर पर भरण-पोषण का दावा कर सकती है विधवा बहू

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने एक ऐतिहासिक निर्णय देते हुए कहा कि यदि हिंदू विधवा महिला स्वयं के भरण-पोषण के लिए पूरी तरह से अक्षम है तो वह अपने ससुर से भरण-पोषण की मांग कर सकती है।

अब तक ऐसा होता आ रहा था कि यदि विवाह संबंध विच्छेद होता था तो हिंदू विवाह अधिनियम के तहत परित्यकता अपने पति से जीवन-यापन का खर्चा ले सकती है। लेकिन अब तक यह स्पष्ट नहीं था कि यदि पति की असमय मृत्यु हो जाए तो ऐसी स्थिति में उसे यदि ससुराल से भी निकाल दिया जाए तो उसकी जिम्मेदारी और भरण पोषण की जवाबदेही किस पर होगी।

इसे भी पढ़ें : छत्तीसगढ़ के इन इलाकों में कल भारी से अतिभारी बारिश के आसार

ऐसा ही एक मामला बिलासपुर हाईकोर्ट में आया। यहां कोरबा निवासी एक युवती का विवाह वर्ष 2008 में जांजगीर-चांपा जिला निवासी युवक से हुआ था। विवाह के बाद वर्ष 2012 में युवक की असमय मृत्यु हो जाने तथा ससुराल से भी निकाल दिए जाने के बाद विधवा ने कुटुंब न्यायालय जांजगीर-चांपा में याचिका दायर की थी।

इसे भी पढ़ें : PCC की बैठक में मोहन मरकाम ने कहा कुछ ऐसा कि जमकर भड़के CM भूपेश बघेल, छा गया सन्नाटा

इस याचिका के विरूद्ध उसके ससुर ने भी याचिका लगाई। इसके बाद विधवा बहू ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। हाईकोर्ट ने पूरे प्रकरण की सुनवाई करने के बाद ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा कि यदि विधवा महिला भरण-पोषण में असमर्थ है तो वह अपने ससुर पर दावा कर सकती है।

इसे भी पढ़ें : मिस्र में मिली 2000 साल पुरानी दुनिया की पहली गर्भवती ममी, आश्चर्य में शोधकर्ता

इसे भी पढ़ें : राष्ट्रपति चुनाव : NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगी शिवसेना! जानिए क्या कहा राउत ने

इसे भी पढ़ें : RSS दफ्तर पर बम से हमला, तेज धमाके से फैली दहशत

इसे भी पढ़ें : केन्द्रीय मंत्रियों के दौरे पर सीएम भूपेश का तंज, कहा- गुजरात मॉडल फेल हो गया, छत्तीसगढ़ मॉडल देखने आते हैं


Related post

आरक्षण पर घमासान : आदिवासी समाज ने हाईकोर्ट में मुख्य सचिव और GAD सचिव के खिलाफ की अवमानना याचिका दायर

आरक्षण पर घमासान : आदिवासी समाज ने हाईकोर्ट में…

छत्तीसगढ़ में आरक्षण को लेकर विवाद लगातार जारी है। विरोध प्रदर्शन के बीच अब मुख्य सचिव अमिताभ जैन और सामान्य प्रशासन…
एक साथ दो-दो सरकारी विभागों में 6 साल तक करता रहा नौकरी, जब खुला राज तो…

एक साथ दो-दो सरकारी विभागों में 6 साल तक…

एक युवक एक साथ दो सरकारी विभाग में नौकरी करता रहा। वह भी महीने दो महीने नहीं बल्कि पूरे 6 साल।…
डामर घोटाला : इन 4 अफसरों के खिलाफ एसीबी करेगी जांच

डामर घोटाला : इन 4 अफसरों के खिलाफ एसीबी…

प्रदेश के बहुचर्चित डामर घोटाला मामले में एडीबी में पदस्थ रहे 4 अफसरों और कंसल्टेंसी फर्म के खिलाफ एसीबी जांच करेगी।…